क्या सिगरेटे / निकोटीन(Nicotine) कोरोना के खिलाफ एक ढाल है ?

0
82
क्या सिगरेटे / निकोटीन(Nicotine) कोरोना के खिलाफ एक ढाल है ?

Can Nicotine protect from COVID-19 or Corona ?

फ्रांस में किये गए नए शोध के अनुसार, निकोटीन(Nicotine) लोगों को कोरोनोवायरस(Corona Virus) के संक्रमण से बचा सकता है। इस बात पर और भी शोध किया जा रहा है कि इस पदार्थ का इस्तेमाल घातक बीमारी को रोकने या इलाज के लिए किया जा सकता है या नहीं।

Impact of Nicotine on Corona Infected patients.

पेरिस में एक अस्पताल के शोधकर्ताओं ने 343 कोरोनोवायरस रोगियों की जांच की, जिसमें 139 लोगों में कोरोना बीमारी के लक्षण उतने घातक नहीं लग रहे थे। अध्ययन में यह पाया गया कि सभी संक्रमित लोगों में केवल पांच प्रतिशत धूम्रपान करने वाले थे और उनके शरीर में Nicotine का असर था ।

A Sample of China also suggest same theory on Nicotine.

न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित एक रिपोर्ट में भी बताया गया है कि चीन में संक्रमित 1,000 लोगों में से 12.6 प्रतिशत लोग धूम्रपान करने वाले थे। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, चीन की सामान्य आबादी में नियमित धूम्रपान करने वालों की संख्या की तुलना में यह लगभग 26 प्रतिशत कम था।

How Nicotine is helpful against COVID-19 and SARS ?

इसके पीछे तर्क यह दिया जा रहा है कि निकोटीन (Nicotine) वायरस को कोशिकाओं में प्रवेश करने और शरीर में फैलने से रोकता है। निकोटीन शरीर की कोशिकाओं के उपर चिपक के वायरस से बचाव में एक ढाल का कार्य करता है ।अभी फ़्रांस सरकार द्वारा इस बारे में और अधिक शोध करने की अनुमति मिलने की प्रतीक्षा की जा रही है। जो लोग कोरोना से युद्ध कर रहे हैं उनको Nicotine Patches का प्रयोग करने देने पर भी विचार किया जा रहा है।

Nicotine may be even more fatal!

लेकिन आगे के शोध की आवश्यकता के साथ साथ, विशेषज्ञ लोगों को धूम्रपान करने या निकोटीन पैच को वायरस के खिलाफ एक सुरक्षात्मक उपाय के रूप में उपयोग करने के लिए प्रेरित नहीं कर रहे हैं। ये भी जानने योग्य बात है कि नोकोटिने का शरीर पर बहुत अधिक दुष्प्रभाव भी पड़ता है । धूम्रपान से प्रति वर्ष अनुमानित 75,000 मौतें फ्रांस में होती हैं। 

शोधकर्ताओं ने चेतावनी दी है कि लोगों को धूम्रपान नहीं करना चाहिए, क्योंकि धूम्रपान करने वाले जो COVID -19 से संक्रमित होते हैं, उनमे और भी अधिक गंभीर लक्षण पैदा हो जाते हैं।

Source- Various Websites and Research papers.

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here